चन्द्रपुर और शिवरीनारायण में बिगड़े हालात , गाँवो को कराया जा रहा है खाली , दो जिलो से कटा संपर्क / जांजगीर चाम्पा कलेक्टर ने जिले के भू माफियाओ और अवैध प्लाटिंग करने वालो को दिया टेंसन / एक्सप्रेस के AC कोच में शार्ट सर्किट , पूरे कोच में भरा धुँआ , यात्रियों में मचा हड़कंप / पति के सामने खुल गया अवैध संबंध का राज , तब प्रेमिका ने प्रेमी की धोखे से करवा दी हत्या / छत्तीसगढ़ में बाढ़ का खतरा बढ़ा , समोदा बांध से छोड़ा जा रहा है एक लाख क्यूसेक पानी , अलर्ट जारी / छत्तीसगढ़ - उफनती नदी में नाव पलटी , तीन युवक बहे , रेस्क्यू ऑपरेशन जारी / अवैध संबंध में प्रेग्नेंट हुई 23 वर्षीय छात्रा , गर्भपात के दौरान हुई मौत , लेडी डॉक्टर और प्रेमी गिरफ्तार / छत्तीसगढ़ - प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए युवाओं को मिलेगा निःशुल्क कोचिंग की सुविधा / CG BIG BREAKING - सभी स्कुलो को बंद करने का आदेश जारी , देखे आदेश की कॉपी / 
हॉस्पिटल में आगजनी का मामला , CMHO डा. रत्नेश कुरारिया निलंबित , 12 हॉस्पिटलों का पंजीयन निरस्त

   cgwebnews.in     146

हॉस्पिटल में आगजनी का मामला , CMHO डा. रत्नेश कुरारिया निलंबित , 12 हॉस्पिटलों का पंजीयन निरस्त

44.70

मध्य प्रदेश
जबलपुर 04 अगस्त 2022 -  न्यू लाइफ मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल में 08 लोगों के जिंदा जलने के बाद स्वास्थ्य विभाग होश में आया है। घटना को लेकर देश भर में शर्मिंदगी झेलने के बाद विभाग ने पहली बड़ी कार्रवाई करते हुए नियम विरुद्ध तरीके से संचालित 12 निजी अस्पतालों का पंजीयन तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया है। इन अस्पतालों में नए मरीजों को भर्ती करने पर रोक लगा दी गई है। इधर, कहा जा रहा है कि नियम विरुद्ध तरीके से संचालित निजी अस्पतालों की संख्या 50 से ज्यादा बताई जा रही है।

इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सख्ती के बाद डा. रत्नेश कुरारिया को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी पद से हटा दिया गया है। क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवाएं डा. संजय मिश्रा को CMHO पद की अतिरिक्त जिम्मेदारी सौंपी गई है। डा.रत्नेश कुरारिया को क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवाएं कार्यालय सागर में अटैच किया गया है। बुधवार को डा. मिश्रा के हस्ताक्षर से अस्पतालों का पंजीयन निरस्त करने का आदेश जारी किया गया।

निजी अस्पतालों के संचालन में फर्जीवाड़े की हद सामने आई। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में उन अस्पतालों को भी लाइसेंस दे दिया था जहां मरीजों की सुरक्षा के किसी भी तरह के इंतजाम नहीं मिले। ऐसे भी अस्पताल सामने आए जिनके संचालकों ने फायर एनओसी के लिए नगर निगम में आवेदन तक नहीं किया था। स्वास्थ्य विभाग व फायर सेफ्टी विभाग के अधिकारी आंखें मूंदे रहे। कुछ अस्पताल संचालकों ने नगर निगम में फायर एनओसी के लिए जमा की गई रकम की रसीद थमा दी। स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक एक निजी अस्पताल के दस्तावेजों की जांच कर भौतिक सत्यापन कराया जा रहा है।

इन अस्पतालों का पंजीयन निरस्त किया गया

प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. संजय मिश्रा ने फायर NOC और अन्य मापदंडों को पूरा न करने वाले शहर के 12 निजी अस्पतालों का पंजीयन निरस्त कर दिया है। जिसमें जगदीश चिल्ड्रल हास्पिटल , जीवन ज्योति हास्पिटल (डा. एके जैन), विजया वूमेन क्लीनिक एंड हास्पिटल , प्राची नर्सिंग होम , कुमार हास्पिटल (डा. कपिल कुमार) , स्टार हास्पिटल (डा. राजीव जैन) , निर्मल हास्पिटल , शाफिया हास्पिटल , अभिनंदन हास्पिटल , आदर्श हास्पिटल , कामाख्या हास्पिटल एवं सरकार हास्पिटल शामिल है।
Anil Tamboli
अनिल तम्बोली

Administrator

Contact
+91 9340270280 | +91 9827961864

Email : zee24ghante.janjgir@gmail.com

Add : Mahamaya Apartment , Main Road , SAKTI , 495689

https://free-hit-counters.net/