एक्सप्रेस के AC कोच में शार्ट सर्किट , पूरे कोच में भरा धुँआ , यात्रियों में मचा हड़कंप / पति के सामने खुल गया अवैध संबंध का राज , तब प्रेमिका ने प्रेमी की धोखे से करवा दी हत्या / छत्तीसगढ़ में बाढ़ का खतरा बढ़ा , समोदा बांध से छोड़ा जा रहा है एक लाख क्यूसेक पानी , अलर्ट जारी / छत्तीसगढ़ - उफनती नदी में नाव पलटी , तीन युवक बहे , रेस्क्यू ऑपरेशन जारी / अवैध संबंध में प्रेग्नेंट हुई 23 वर्षीय छात्रा , गर्भपात के दौरान हुई मौत , लेडी डॉक्टर और प्रेमी गिरफ्तार / छत्तीसगढ़ - प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए युवाओं को मिलेगा निःशुल्क कोचिंग की सुविधा / CG BIG BREAKING - सभी स्कुलो को बंद करने का आदेश जारी , देखे आदेश की कॉपी / तेज रफ्तार इनोवा के उपर पलटा ट्रक , हादसे में एक युवती और चार युवकों की मौके पर ही मौत / छत्तीसगढ़ - दो स्कूली बसों की आपस में टक्कर , एक बस खेत में पलटी , बच्चो में मचा हड़कंप / 
छत्तीसगढ़ - एक वकील ने दूसरे वकील को दिया धोखा , फर्जी हस्ताक्षर कर किया यह कारनामा

   cgwebnews.in     315

छत्तीसगढ़ - एक वकील ने दूसरे वकील को दिया धोखा , फर्जी हस्ताक्षर कर किया यह कारनामा

46.79

बिलासपुर
बिलासपुर 30 जून 2022 -  चिरमिरी के वकील सत्येंद्र सिंह ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर शिकायत दर्ज कराई है कि चिरमिरी के वकील राजकुमार गुप्ता व उनके जूनियर ने उनका फर्जी हस्ताक्षर कर जनहित याचिका दायर की है। याचिकाकर्ता ने जनहित याचिका को रद्द करने और फर्जीवाड़ा करने वाले वकील के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। मामले की गंभीरता को देखते हुए डिवीजन बेंच ने महाधिवक्ता सतीशचंद्र वर्मा को प्रकरण की जांच करने और 25 अगस्त तक अपनी राय पेश करने कहा है।

हाई कोर्ट के इतिहास का यह पहला मामला है जब एक वकील ने दूसरे वकील के नाम का इस्तेमाल करते हुए उनकी जानकारी और सहमति के बिना फर्जी हस्ताक्षर कर शपथ पत्र बना लिया और दायर कर दी है। बुधवार को इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस एके गोस्वामी और जस्टिस पीपी साहू की डिवीजन बेंच में हुई। याचिकाकर्ता वकील सत्येंद्र सिंह ने जब हाई कोर्ट में आवेदन पेश कर फर्जीवाड़े की जानकारी देते हुए जनहित याचिका से अपना नाम वापस लेने की गुहार लगाई तब हाई कोर्ट को चौंकन्ना हो गया।

अपनी तरह के इस अनोखे फर्जीवाड़ा को लेकर हाई कोर्ट ने गंभीरता दिखाई और याचिकाकर्ता सत्येंद्र सिंह को नोटिस जारी कर कोर्ट में उपस्थित होने के निर्देश दिए थे। बुधवार को इस मामले की सुनवाई हुई। वकील सत्येंद्र सिंह कोर्ट के निर्देश पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। कोर्ट ने पूरे प्रकरण की सिलसिलेवार जानकारी देने कहा। इस पर वकील सत्येंद्र सिंह ने बताया कि पेट्रोल पंप के संचालन पर हाई कोर्ट से आदेश जारी होने के पर उन्होंने मुझसे संपर्क किया और बताया कि मैंने जनहित याचिका दायर की है।

याचिका पर डिवीजन बेंच ने पेट्रोल पंप को बंद करने का फैसला सुनाया है। याचिकाकर्ता ने कोर्ट को बताया कि मैंने पेट्रोल पंप संचालक से इस तरह की कोई याचिका दायर करने की बात से इन्कार किया। इसके बाद मैंने छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट के वकील से मोबाइल के जरिए संपर्क साधा और जनहित याचिका के संबंध में जानकारी मांगी। तीन दिनों बाद वकील ने मेरे नाम से जनहित याचिका दायर होने और कोर्ट के फैसले की जानकारी दी। इसके बाद मैंने जनहित याचिका से अपना नाम वापस लेने की गुहार लगाते हुए आवेदन पेश किया है।

वकील सत्येंद्र सिंह से डिवीजन बेंच से पूछा कि वकील राजकुमार गुप्ता ने कोर्ट के समक्ष कहा कि याचिकाकर्ता पहले भी चार पांच याचिका दायर की है। इस पर कोर्ट ने कहा याचिकाकर्ता याचिका दायर करने से इन्कार कर रहे हैं इसकी जांच कराएंगे। सत्येंद्र सिंह ने कोर्ट के समक्ष कहा कि वर्ष 2014 में राज्य अधिवक्ता परिषद का चुनाव लड़ रहा था। उसी दौरान वकीलों से वोट मांगने के लिए बिलासपुर हाई कोर्ट आया था। इसके बाद आजतक बिलासपुर नहीं आया हूं। याचिका दायर करने और वकील गुप्ता से संपर्क करने का प्रश्न ही नहीं उठता। कोर्ट ने पूछा कि क्या करते हैं। तब उसने बताया कि चिरमिरी व्यवहार न्यायालय में वकालत करता हूं।

चिरमिरी हल्दीबाड़ी में एमएम राय एंड संस द्वारा वर्ष 1962 से पेट्रोल पंप का संचालन किया जा रहा है। इस पंप से कुछ दूरी पर एक और पंप का संचालन हो रहा है। व्यावसायिक प्रतिद्वंदिता के चलते वकील सत्येंद्र सिंह के नाम से फर्जी तरीके से जनहित याचिका दायर कर एमएम राय एंड संस द्वारा संचालित पेट्रोल पंप को बंद करने की मांग की। जनहित याचिका में जमीन आवंटन सहित अन्य आरोप लगाए गए हैं। मामले की सुनवाई के बाद डिवीजन बेंच ने पेट्रोल पंप संचालन पर रोक लगा दी है।

राजकुमार गुप्ता ने मेरे नाम से फर्जी हस्ताक्षर कर शपथ पत्र करते हुए हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर कर दी है। इसकी जानकारी मुझे नहीं थी। पंप संचालक द्वारा बताए जाने के बाद जानकारी मिली। मैंने हाई कोर्ट में आवेदन पेश कर इसकी जानकारी दी है और अपना नाम वापस लेने की मांग की है।
Anil Tamboli
अनिल तम्बोली

Administrator

Contact
+91 9340270280 | +91 9827961864

Email : zee24ghante.janjgir@gmail.com

Add : Mahamaya Apartment , Main Road , SAKTI , 495689

https://free-hit-counters.net/