जांजगीर चाम्पा कलेक्टर ने जिले के भू माफियाओ और अवैध प्लाटिंग करने वालो को दिया टेंसन / एक्सप्रेस के AC कोच में शार्ट सर्किट , पूरे कोच में भरा धुँआ , यात्रियों में मचा हड़कंप / पति के सामने खुल गया अवैध संबंध का राज , तब प्रेमिका ने प्रेमी की धोखे से करवा दी हत्या / छत्तीसगढ़ में बाढ़ का खतरा बढ़ा , समोदा बांध से छोड़ा जा रहा है एक लाख क्यूसेक पानी , अलर्ट जारी / छत्तीसगढ़ - उफनती नदी में नाव पलटी , तीन युवक बहे , रेस्क्यू ऑपरेशन जारी / अवैध संबंध में प्रेग्नेंट हुई 23 वर्षीय छात्रा , गर्भपात के दौरान हुई मौत , लेडी डॉक्टर और प्रेमी गिरफ्तार / छत्तीसगढ़ - प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए युवाओं को मिलेगा निःशुल्क कोचिंग की सुविधा / CG BIG BREAKING - सभी स्कुलो को बंद करने का आदेश जारी , देखे आदेश की कॉपी / तेज रफ्तार इनोवा के उपर पलटा ट्रक , हादसे में एक युवती और चार युवकों की मौके पर ही मौत / 
छत्तीसगढ़ - रेप पीड़िता बोलीं बिन ब्याही मां नहीं बनना चाहती , हाईकोर्ट से मांगी गर्भपात की अनुमति

   cgwebnews.in     193

छत्तीसगढ़ -  रेप पीड़िता बोलीं बिन ब्याही मां नहीं बनना चाहती , हाईकोर्ट से मांगी गर्भपात की अनुमति

95.65

बिलासपुर
बिलासपुर 30 जून 2022 -  छत्तीसगढ़ के बिलासपुर हाईकोर्ट में एक युवती ने अबॉर्शन (गर्भपात) की अनुमति मांगी है। याचिका पर हाईकोर्ट के जस्टिस पी सेम कोशी की अदालत ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) को विशेष डॉक्टरों की टीम बनाकर जांच कराने और मेडिकल रिपोर्ट सौंपने को कहा है। अबॉर्शन के लिए हाईकोर्ट पहुंची पीड़िता ने न्यायालय से गुहार लगाई कि वह बिन ब्याही मां नहीं बनना चाहती। शादी का झांसा देकर एक युवक ने उसके साथ दुष्कर्म किया, जिसके चलते वह गर्भवती हो गई। युवक ने विश्वासघात किया और उसका साथ छोड़ दिया है। युवती महासमुंद जिले की निवासी है। 

हाईकोर्ट में दायर याचिका में युवती ने बताया कि बसना थाना क्षेत्र में रहने वाले एक युवक ने उसे पहले प्यार में फंसाया। उसने शादी करने का विश्वास दिलाया और दुष्कर्म करने लगा। युवक ने उसे धोखा दे दिया और शादी से मुकर गया। युवक द्वारा छोड़े जाने से परेशान होकर युवती पुलिस के पास गई। पुलिस ने शिकायत पर 23 मई को आरोपी युवक के खिलाफ दुष्कर्म और एट्रोसिटी एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर लिया। दुष्कर्म पीड़िता युवती गर्भपात कराने अस्पताल गई जँहा डॉक्टरों ने नियमों का हवाला देकर गर्भपात करने से इनकार कर दिया गया।

हाईकोर्ट के जस्टिस पी सेम कोशी की अदालत में मामले की सुनवाई हुई। याचिकाकर्ता युवती के वकीलों ने कानूनी तर्कों के साथ हाईकोर्ट के पुराने आदेश का हवाला भी दिया। युवती का पक्ष सुनने के बाद कोर्ट ने कहा कि गर्भपात के पहले गर्भ की डॉक्टर जांच करेंगे। 

उच्च न्यायालय ने युवती को 30 जून को महासमुंद के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के पास जाने का आदेश दिया है। साथ ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी को आदेश दिया है कि विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम बनाकर युवती के गर्भ की जांच कराएं और 4 जुलाई को रिपोर्ट हाईकोर्ट में प्रस्तुत करें।
Anil Tamboli
अनिल तम्बोली

Administrator

Contact
+91 9340270280 | +91 9827961864

Email : zee24ghante.janjgir@gmail.com

Add : Mahamaya Apartment , Main Road , SAKTI , 495689

https://free-hit-counters.net/